राजधानी में आयोजित राज्य स्तरीय खेल महाकुंभ में हरिद्वार जिले के खिलाड़ियों के साथ आए एथलेटिक्स के कोच पेशे से किसान हैं। एक ऐसा किसान जिसने खिलाड़ियों की प्रतिभा को तरासने का बीड़ा उठाया है।

उनसे प्रशिक्षण लेकर खिलाड़ियों ने राज्य स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में कई स्वर्ण पदक जीते हैं। अब खेल महाकुंभ में भी उनके दो शिष्य रितेश गोस्वामी और आशीष ने लंबी कूद में गोल्ड मेडल जीते हैं। उनसे प्रशिक्षण लेकर 10 युवा पुलिस सेवा और आठ सेना में जा चुके हैं।

हरिद्वार जिले के गांव मुंडलाना निवासी जसवीर (36) किसान हैं। वह हर शाम गांव के खिलाड़ियों की प्रतिभा को तरासने के लिए अपने खेत में बनाए गए मैदान में लगभग तीन घंटे देते हैं। इन दिनों वह करीब दो दर्जन खिलाड़ियों को एथलेटिक्स के गुर सिखा रहे हैं। इसके अलावा वह सेना और पुलिस में भर्ती होने के लिए भी युवाओं की तैयारी कराते हैं।

बृहस्पतिवार को  उन्होंने बताया कि वह भी एथलेटिक्स के खिलाड़ी रह चुके हैं। वर्ष 1995 से 1997 तक मंडल स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं में मेडल जीत चुके हैं। उन्होंने 200 मीटर दौड़ में कांस्य, 800 मीटर दौड़ में गोल्ड, 1500 मीटर दौड़ में रजत पदक जीता था।

उन्होंने बताया कि वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करना चाहते थे लेकिन धनाभाव में उनका सपना पूरा नहीं हो सका। अब वह खेती के साथ ही खिलाड़ियों को प्रशिक्षण देते हैं ताकि उनके शिष्य राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग कर अपना और देश का नाम रोशन कर सकें। जसवीर ने बताया कि यह काम वह निशुल्क करते हैं। उनसे प्रशिक्षण लेकर 10 युवा पुलिस और आठ सेना में नौकरी कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here